Wednesday, May 22, 2024
Banner Top

दक्षिण पश्चिम मॉनसून ने केरल में दस्‍तक दे दी है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने यह जानकारी दी है.मॉनसून, पूर्व के अनुमान से करीब दो दिन की देरी से केरल पहुंचा है. IMD ने पहले 31 मई को तय समय से पहले मॉनसून के केरल पहुंचने का अनुमान लगाया था, बाद में इस अनुमान में बदलाव करते हुए दो जून को मॉनसून के दस्‍तक देने की बात कही गई थी.

इससे पहले, भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया था कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून  के उत्तर और दक्षिण भारत में सामान्य, मध्य भारत में सामान्य से अधिक और पूर्व तथा पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम रहने का अनुमान है. दक्षिण पश्चिम मॉनसून  2021 के लिए अपना दीर्घावधि पूर्वानुमान जारी करते हुए आईएमडी ने कहा था कि देश में इस साल मॉनसून  सामान्य रहने का पूर्वानुमान है. इसके सामान्य दीर्घावधि औसत (एलपीए) के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना जताई गई थी. मोहापात्र ने कहा, ‘‘ दक्षिण-पश्चिम मानसनू (जून–सितंबर) की वर्षा सामान्य सामान्य दीर्घावधि औसत (एलपीए) के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना है.”उन्होंने कहा, ‘‘ मात्रात्मक रूप से, देश में मॉनसून  की बारिश के एलपीए के 101 प्रतिशत होने की संभावना है।”वर्ष 1961-2010 मॉनसून  की बारिश का एलपीए 88 सेंटीमीटर था.

Banner Content
Tags: , ,

Related Article

No Related Article

0 Comments

Leave a Comment