Wednesday, May 22, 2024
Banner Top

प्लाज्मा बैंक से दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में इलाज करा रहे 710 कोविड के गंभीर मरीजों को प्लाज्मा निशुल्क उपलब्ध कराया गया

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण का रिकवरी रेट मंगलवार को 89.82% हो गया. यह सोमवार को 90.09% था. दिल्ली में अब एक्टिव मरीज़ 7.37% हैं और डेथ रेट 2.8% है. मंगलवार को समाप्त 24 घंटे में कोरोना के 1257 मामले सामने आए. अब कुल मामले 1,47,391 हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 8 मरीजों की मौत हुई है और कुल मौतों का आंकड़ा 4139 हो गया है. पिछले 24 घंटे में 727 लोग ठीक हुए हैं. अब तक कुल 1,32,384 लोग ठीक हुए हैं.

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के एक्टिव केस 10,868 हैं. होम आइसोलेशन में 5523 मरीज हैं. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 19,440 (RT-PCR- 5356, एंटीजन- 14,084) टेस्ट हुए. दिल्ली में अब तक कुल 12,23,845 टेस्ट हुए हैं.

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्लाज्मा बैंक खोलने की निजी पहल अब कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए संजीवनी बन गई है. दिल्ली सरकार द्वारा कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों के साथ, प्लाज्मा थेरेपी दिल्ली -एनसीआर में गंभीर रूप से बीमार कोविड-19 मरीजों के शीघ्र स्वस्थ्य करने में कारगर साबित हुआ है. केजरीवाल की पहल पर देश का पहला प्लाज्मा बैंक 2 जुलाई को आईएलबीएस अस्पताल में शुरू किया गया था, जिसका उद्देश्य कोविड के गंभीर मरीजों को निःशुल्क उच्च गुणवत्ता का प्लाज्मा प्रदान करना था. इसके बाद, दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में एक और प्लाज्मा बैंक शुरू किया गया. जिससे अब तक 710 लोगों को मुफ्त प्लाज्मा दिया गया है,  जिससे कोरोना के गंभीर मरीजों का इलाज संभव हो पाया. अब तक 921 लोग प्लाज्मा दान कर चुके हैं.  दिल्ली मॉडल का यह सिस्टम कोविड इलाज प्रतिक्रिया में एक महत्वपूर्ण तत्व रहा है और अब देश के अन्य राज्यों द्वारा भी अपनाया जा रहा है.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार के आईएलबीएस और एलएनजेपी अस्पताल में स्थापित प्लाज्मा बैंक से दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार व एमसीडी के अस्पतालों के अलावा सभी निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे कोरोना के गंभीर मरीजों को निशुल्क प्लाज्मा उपलब्ध कराया जा रहा है. आज की तारीख तक आईएलबीएस और एलएनजेपी के प्लाज्मा बैंक से 710 यूनिट प्लाज्मा दिल्ली के विभिन्न सरकारी व निजी अस्प्तालों में इलाज करा रहे कोरोना के गंभीर मरीजों को निशुल्क दिया जा चुका है.

Banner Content
Tags: ,

Related Article

0 Comments

Leave a Comment