Wednesday, May 22, 2024
Banner Top

कोरोनावायरस  महामारी के बीच स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन  ने मंगलवार को कहा कि भारत में अगले साल की शुरुआत तक कोरोनावायरस के खिलाफ वैक्सीन  उपलब्ध होने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि हम उम्मीद कर रहे हैं हमारे पास एक से ज्यादा स्त्रोत से वैक्सीन उपलब्ध होगी. हाल ही में केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि 2021 की पहली तिमाही तक हमारे पास एक कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होने की संभावना है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने आज मंत्री समूह की बैठक के दौरान कहा, “हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले साल की शुरुआत में एक से अधिक स्रोतों से देश में वैक्सीन उपलब्ध होनी चाहिए. देश में टीकों का वितरण किस प्रकार से किया जाए इसे लेकर हमारे विशेषज्ञ समूह पहले से ही रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं. हम निश्चित रूप से कोल्ड चेन सुविधाओं को मजबूत कर रहे हैं.”

मौजूदा समय में, देश में चार कोरोनावायरस वैक्सीन का प्री-क्लीनिकल ट्रायल एडवांसड स्टेज में है.

इससे पहले, रविवार को स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि  सरकार ने भारत में कोविड-19 टीके के आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी पर फिलहाल कोई निर्णय नहीं किया है. उन्होंने कहा, ‘‘रोगियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की खातिर टीके के आपातकालीन प्रयोग की अनुमति देने के लिए पर्याप्त सुरक्षा और प्रभावी आंकड़ों की जरूरत होगी. आंकड़ों के आधार पर ही आगे की कार्रवाई निर्भर करेगी.”

स्वास्थ्य मंत्री ने रविवार को कहा, “भारत की बड़ी आबादी को देखते हुए एक वैक्सीन या एक वैक्सीन विनिर्माता पूरे देश की वैक्सीन की जरूरतों को पूरा नहीं कर सकता है. इसलिए हम भारतीय आबादी के लिए उनकी उपलब्धता के अनुसार, देश में कई COVID-19 वैक्सीन को पेश करने की व्यवहार्यता का आकलन करने के लिए स्वतंत्र हैं.”

बता दें कि अमेरिका के बाद भारत कोरोनावायरस महामारी से दूसरे सबसे ज्यादा प्रभावित देश है. भारत में कोविड-19 के 55,342 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामले 71.75 लाख के पार पहुंच गए हैं जबकि बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या 62 लाख को पार कर गई है.

Banner Content
Tags: ,

Related Article

0 Comments

Leave a Comment